नैनोटेक्नोलाजी सर्फेस के गुणों को बदलती है।

हायड्रोफिलिक

चिकने सतहों पर पानी की बूंदे या जलवाष्प का संघनन ऑप्टिकल व्यतिकरण के कारण बन सकते हैं या प्रतिबिंब और पारदर्शिता का अवरोध कर सकते हैं।वाष्पीकरण सतह पर धब्बों का कारण हो सकता है, जिसका ऑप्टिक्स पर असर हो सकता है और सफाई के काम को बढ़ा सकता है।

हमारी स्पष्ट, पारदर्शी और हायड्रोफिलिक फंक्शनल परत गीलेपन के व्यवहार को बेहतर करती है, जिसकी वजह से पानी की सूक्ष्म बूंदे फैलकर एक सम्बद्ध, पतली परत तैयार करती हैं।यह एक कोहरे विरोधी प्रभाव तैयार करता है और ऑप्टिकल व्यतिकरण को रोकता है। पानी की पतली परत वाष्पीकरण को आसान करती है और एक शीतलन प्रभाव तैयार करती है (अधिक ऊर्जा के बचत का सामर्थ्य )।

  • बेहतर पारदर्शिता और शून्य ऑप्टिकल व्यतिकरण
  • शीतलन प्रभाव